बंगाल का विभाजन प्रश्न और उत्तर – बंगाल के विभाजन से संबंधित प्रश्न और उत्तर

बंगाल का विभाजन प्रश्न और उत्तर

बंग-भंग विरोधी (स्वदेशी) आंदोलन का प्रारम्भ कब हुआ था?
(A) 20 जुलाई, 1905
(B) 7 अगस्त, 1905:
(C)16 अक्टूबर, 1905
(D) 7 नवंबर, 1905 1.

उत्तर (B)

भारतीयों के विरोध के बावजूद वायसराय लार्ड कर्जन ने 20 | जुलाई, 1905 को बंगाल विभाजन की घोषणा कर दी, जिसे 16 | अक्टूबर, 1905 से लागू होना था। इस निर्णय के विरोध में 7 | अगस्त, 1905 को कलकत्ता के टॉउनहॉल में एक बहिष्कार | प्रस्ताव पारित हुआ तथा स्वदेशी आंदोलन की घोषणा की गई। 16 अक्टूबर, 1905 जिस दिन बंगाल विभाजन का निर्णय लागू | हुआ, पूरे बंगाल में राष्ट्रीय शोक दिवस के रूप में मनाया गया।

2. बंगाल का विभाजन मुख्यतः किया गया था

(A) हिंदुओं और मुसलमानों को विभाजित करने के लिए

(B) प्रशासनिक सुविधा के लिए।

(C) बंगाली राष्ट्रवाद को दुर्बल करने के लिए

(D) बंगाल के विकास के लिए

उत्तर (C)

| बंगाली राष्ट्रवाद को दुर्बल करने के लिए बंगाल विभाजन किया गया था। बंगाल उस समय भारतीय राष्ट्रीय चेतना का केंद्र बिन्दु था और साथ ही बंगालियों में प्रबल राजनैतिक जागृति भी थी। | सुरेन्द्र नाथ बनर्जी कृष्ण कुमार मिश्र, पृथ्वीशचन्द्र राय जैसे बंगाल के नेताओं ने बंगाली हितवादी एवं संजीवनी जैसे अखबारों द्वारा विभाजन के प्रस्ताव की अलोचना की।

3. 1905 ई. में बंगाल विभाजन किस वायसराय ने किया?

(A) लॉर्ड हॉडिंग

(B) लॉर्ड कर्जन

(C) लॉर्ड लिटन

(D) लॉर्ड मिटो

उत्तर (B)

(B) लॉर्ड कर्जन

बंगाल का विभाजन लॉर्ड कर्जन (1899-1905 ई.) के कार्य काल में किया गया था। विभाजन के समय बंगाल में बिहार, उड़ीसा एवं बांग्लादेश शामिल थे। बंगाल विभाजन के निर्णय की घोषणा 20 जुलाई, 1905 ई. को की गई थी तथा यह 16 अक्टूबर, 1905 से लागू हुआ।

4. बंगाल के विभाजन के समय, बंगाल का लेफ्टिनेंट गवर्न कौन था?

(A) सर एण्ड्यू फ्रेजर
(B) एच. एच. रिजले

(C) ब्रोड्रिक

(D) ए. टी. अरुण्डेल
उत्तर (A)

बंगाल विभाजन के समय सर एण्ड्यू फ्रेजर (1903-1908 ई.) बंगाल के एक सिविल सेवक और लेफ्टिनेंट गवर्नर में 16 अक्टूबर, 1905 को बंगाल विभाजन के बाद ए पश्चिमी बंगाल में विभाजित हो गया। पूर्वी बंगाल का प्रथम लॅफ्टिनेट गवर्नर ब्लूमफील्ड फूलर को तथा पश्चिमी बंगाल का प्रथम लेफ्टिनेंट गवर्नर एण्ड्यू फ्रेजर को नियुक्त किया गया।

5. स्वदेशी आंदोलन के प्रारम्भ का तात्कालिक कारण क्या था?

(A) लॉर्ड कर्जन द्वारा किया गया बंगाल विभाजन

(B) लोकमान्य तिलक पर अधिरोपित 18 महोने के सख्त कारावास का दंडादेश

(C) लाला लाजपत राय तथा अजीत सिंह की गिरफ्तारी व निर्वासन तथा पंजाब कोलोनाइजेशन बिल पास किया जाना।

(D) चापेकर बंधुओं को मृत्यु दंड की सजा सुनाया जाना।

उत्तर (A)

बंगाल विभाजन के कारण स्वदेशी आन्दोलन आरम्भ हुआ। बंगाल विभाजन का उद्देश्य राजनैतिक था तथा यह बंगाल में यह रही राष्ट्रीयता की भावना को तोड़ने हेतु ब्रिटिश सरकार द्वारा उठाया गया कदम था

6. मदास में स्वदेशी आंदोलन का नेतृत्व किसने किया था?

(A) श्रीनिवास शास्त्री

((B) राजगोपालाचारी

(C) चिदंबरम् पिल्स

(D) चितामणि

उत्तर (C)

मद्रास में स्वदेशी आंदोलन का नेतृत्व चिदंबरम् पिल्ले ने किया था कांग्रेस के बनारस अधिवेशन में स्वदेशी एवं बहिष्कार आन्दोलन का अनुमोदन किया गया। बाल गंगाधर तिलक ने इस आंदोलन का प्रचार बम्बई एवं पुणे में लाला लाजपत राय एवं अजीत सिंह ने पंजाब एवं उत्तर प्रदेश में तथा सैय्यद हैवर रजा ने दिल्ली में किया।

बंगाल के विभाजन से संबंधित प्रश्न और उत्तर

7. बंगाल में ब्रिटेन की वस्तुओं के बहिष्कार का सुझा सर्वप्रथम किसने दिया था?

(A) अरविंद घोष ने

(B) कृष्ण कुमार मित्र ने

(C) मोतीलाल घोष ने

(D) सतीश चंद्र मुखर्जी ने

उत्तर (B)

कृष्ण कुमार मित्र ने बंगाल विभाजन के प्रस्ताव के विरोध में अपनी बाग्ला पत्रिका संजीवनी के लेख में 13 जुलाई, 1905 को सर्वप्रथम सुझाव दिया था कि भारतीय जनता द्वारा ब्रिटिश वस्तुओं का बहिष्कार करना चाहिए तथा सरकारी अधिकारियों एवं सरकारी संस्थाओं से सभी सम्बंध तोड़ लेने चाहिए। स्वदेशी आन्दोलन के दौरान सबसे अधिक सफलता विदेशी वस्तुओं के बहिष्कार आंदोलन को मिली। 1907 से 1908 ई. के बीच बंगाल के नौ बड़े नेता जिनमें अश्विनी कुमार दत्त और कृष्ण कुमार मित्र शामिल थे, निर्वासित कर दिए गए।

8. ब्रिटिश पत्रकार एच. डब्ल्यू. नेविन्सन जुड़े थे

(A) असहयोग आंदोलन से

(B) सविनय अवज्ञा आंदोलन से
(C) स्वदेशी आंदोलन से

(D) भारत छोड़ो आंदोलन से

उत्तर (C)

एच. डब्ल्यू. नेविन्सन स्वदेशी आंदोलन से जुड़े थे, इन्होंने इस समय डेली क्रॉनिकल, ग्लास्गो हेराल्ड तथा मॉनचेस्टर गार्जियन के लिए रिपोटिंग की थी। बाद में इन समस्त रिपोर्टों को संकलित कर उन्होंने द न्यू स्पिरिट इन इण्डिया (The new Spirit in India) नाम से एक पुस्तक प्रकाशित की थी।
9. भारत की प्राचीन कला परम्पराओं को पुनर्जीवित करने के लिए एक इंडियन सोसाइटी ऑफ ओरिएंटल आर्ट की स्थापना की थी

(A) अवनींद्रनाथ टैगोर ने
(B) नंदलाल बोस ने
(C) असितकुमार हलधर ने
(D) अमृता शेरगिल ने

उत्तर (A)

इंडियन सोसाइटी ऑफ ओरिएंटल आर्ट की स्थापना 1907 ई. में अवनींद्रनाथ टैगोर (1871-1951 ई.) ने राष्ट्रीय आंदोलन के बढ़ते प्रभाव के वातावरण में की थी। अवनींद्रनाथ टैगोर ने पाश्चात्य प्रभाव से अलग रहकर स्वदेशी चित्रकारी प्रारम्भ की। जिसके द्वारा आधुनिक भारतीय चित्रकला के विकास को बढ़ावा मिला।

10. स्वदेशी और बहिष्कार सर्वप्रथम किस घटना के दौरान संघर्ष की विधि के रूप में अपनाए गए थे?

(A) बंगाल विभाजन के विरुद्ध आंदोलन

(B) होम रूल आंदोलन

(C) असहयोग आंदोलन

(D) साइमन कमीशन की भारत यात्रा

उत्तर (A)

संघर्ष और विरोध की विधियों के रूप में स्वदेशी एवं बहिष्कार पहली बार बंगाल विभाजन के विरुद्ध (1905) हुए आंदोलन के दौरान अपनाए गये थे। स्वदेशी आंदोलन के समय लोगों का आंदोलन के प्रति समर्थन एकत्र करने में स्वदेश बान्धव समिति की महत्वपूर्ण भूमिका थी। इसकी स्थापना अश्विनी कुमार दत्त ने की थी।

बंगाल का विभाजन प्रश्न और उत्तर

इन्हें भी पढ़ें

भारत का इतिहास

मध्यकालीन भारत का राजनीतिक इतिहास

Leave a Comment

error: Content is protected !!
Ads Blocker Image Powered by Code Help Pro

Ads Blocker Detected!!!

We have detected that you are using extensions to block ads. Please support us by disabling these ads blocker.