गौतम बुद्ध का जन्म कहां हुआ था-गौतम बुद्ध का जन्म और मृत्यु कब हुआ था

गौतम बुद्ध का जन्म कहां हुआ था

गौतम बुद्ध एवं बौद्ध  

बौद्ध धर्म के संस्थापक गौतम बुद्ध थे। इन्हें एशिया का ज्योति पुँज Light of Asia) कहा जाता है। इनका जन्म लगभग 563 ई.पू. में कपिलवस्तु के समीप नेपाल की तराई में लुम्बिनी नामक स्थान पर हुआ था। इनके पिता शद्धोधन शाक्य’ गणराज्य के मुखिया थे। इनकी माता महामाया की मृत्यु इनके जन्म के सातवें दिन ही हो गई थी। इनका लालन-पालन इनकी मौसी प्रजापति गौतमी ने किया था। इनके बचपन का नाम सिद्धार्थ था इनका विवाह 16 वर्ष की आयु में यशोधरा के साथ हुआ।

इनके पुत्र का नाम राहुल था।

 

एक बार सिद्धार्थ जब कपिलवस्तु की सैर को निकले, तो उन्होंने निम्न चार दृश्यों को क्रमश: देखा
– (1) बूढ़ा व्यक्ति
(2) एक बीमार व्यक्ति
(3) शव
(4) एक संन्यासी; जिन्हें देखकर उनके मन में वैराग्य की भावना जाग्रत हो उठी। सांसारिक समस्याओं से दुःखी होकर गौतम बुद्ध ने 29 वर्ष की अवस्था में गृह-त्याग किया, जिसे बौद्ध धर्म में महाभिनिष्क्रमण की घटना कहा जाता है। गृह-त्याग के बाद सिद्धार्थ ने वैशाली के आलारकालाम से सांख्य दर्शन की शिक्षा ग्रहण की। आलारकालाम सिद्धार्थ (बुद्ध) के प्रारम्भिक गुरु थे। 6 वर्ष की कठिन तपस्या के बाद 35 वर्ष की आयु में वैशाख पूर्णिमा की रात निरंजना नदी के किनारे, पीपल के वृक्ष के नीचे सिद्धार्थ को ज्ञान प्राप्त हुआ। ज्ञान प्राप्ति के बाद सिद्धार्थ बुद्ध के नाम से प्रसिद्ध हुए।

वह पीपल जिसके नीचे बुद्ध को ज्ञान प्राप्ति हुई बोधि वृक्ष तथा स्थान बोधगया बोध गया (बिहार) कहलाया। बुद्ध ने अपना प्रथम उपदेश वाराणसी के निकट स्थित सारनाथ (ऋषिपतनम् ) में अपने पाँच शिष्यों को दिया, जिसे बौद्ध ग्रन्थों में धर्मचक्र प्रवर्तन कहा गया। बुद्ध ने अपने उपदेश जनसाधारण की भाषा पाली में दिए। महात्मा बुद्ध ने जीवन की जटिलता को सरल करने हेतु मध्यम मार्ग को महत्त्वपूर्ण बताया। बुद्ध की मृत्यु 80 वर्ष की अवस्था में 483 ई.पू. में कुशीनगर (उत्तर प्रदेश) में हुई, जिसे बौद्ध धर्म में महापरिनिर्वाण कहा गया है।

इन्हे भी पढ़े

भारत का इतिहास

मध्यकालीन भारत का राजनीतिक इतिहास

हड़प्पा सभ्यता

सिंधु घाटी सभ्यता

रुपए का इतिहास

कागज के नोटों की शुरुआत

गौतम बुद्ध का जन्म कहां हुआ था

Leave a Comment

error: Content is protected !!