राज्य विधानमंडल – state legislature – विधान परिषद- विधान सभा – राज्य विधानमंडल polity gk

 

अनुच्छेद (168) प्रत्येक राज्य में एक विधानमंडल होगा    Article (168) Each State shall have a Legislature
अनुच्छेद (168) प्रत्येक राज्य में एक विधानमंडल होगा Article (168) Each State shall have a Legislature
Table Of Contents hide

राज्य विधानमंडल 

State Legislature 

  • को अनुच्छेद 169 विधान परिषद बनाने यह बनाने की विधि
  • Article 169 Formation of the Legislative Council to make it
  • नोट -आंध्र प्रदेश में 1950 ईस्वी में विधान परिषद को हटा दिया था तथा फिर 2007 में बना लिया
  • Note – In Andhra Pradesh, the Legislative Council was removed in 1950 and then formed in 2007.
  • नोट- जम्मू कश्मीर 31 अक्टूबर 2019 को केंद्रशासित प्रदेश बना
  • Note- Jammu Kashmir became a Union Territory on 31 October 2019.

राज्य विधानमंडल विधान परिषद

Legislative Assembly

विधानमंडल का उच्च सदन होता है

The upper house of the legislature is

विधान परिषद के लिए 2 /3 सदस्य

2/3 Member for Legislative Council

संसद में साधारण बहुमत से पारित

Parliament passed with a simple majority

सृजित (बन जाएगी )

Will be created

सभापति उपसभापति, सदस्यों में से चुने जाते हैं

The Chairman, Deputy Chairman is elected from among the members.

राज्य विधानमंडल विधान परिषद का गठन अनुच्छेद 171

Constitution of Legislative Council Article 171

विधान परिषद का गठन अनुच्छेद 171

राज्य विधानमंडल सदस्य निर्वाचन मनोनीत

Member Election Nominated

सदस्य निर्वाचन मनोनीत
सदस्य निर्वाचन मनोनीत सदस्य निर्वाचन मनोनीत विधान परिषद की अवधि 172 (2) Legislative Council term 172 (2) विधान परिषद नहीं होती है Legislative Council is not there कार्यकाल 6 वर्ष सदस्यों का कार्यकाल Tenure of members for 6 years 1/3 सदस्य प्रति 2वर्ष सेवानिर्मित 1/3 member retired per 2 years

राज्य विधानमंडल

राज्य विधानमंडल विधान परिषद की अवधि 172 (2)

Legislative Council term 172 (2)

  • विधान परिषद नहीं होती है
  • Legislative Council is not there
  • कार्यकाल 6 वर्ष सदस्यों का कार्यकाल
  • Tenure of members for 6 years
  • 1/3 सदस्य प्रति 2वर्ष सेवानिर्मित
  • 1/3 member retired per 2 years

योग्यताएँ  अनुछेद 173

  • Qualifications 173
  • भारत का नागरिक हो
  • Be a citizen of India
  • 30 वर्ष की उम्र पूरी कर चुका हो
  • Has completed 30 years of age
  • पागल दिवालिया नहीं होना चाहिए
  • Mad must not go bankrupt
  • संसद के द्वारा बनाए गए कानून के अंतर्गत होना चाहिए
  • Must be under law made by Parliament
  • कोई व्यक्ति अपराधी नहीं होना चाहिए
  • No person should be a criminal

विधान सभा 

Assembly

राज्य विधानमंडल विधान सभा का गठन अनुच्छेद 170

Constitution of Legislative Assembly Article 170

अधिकतम सदस्य 500

Maximum 500 members

न्यूनतम सदस्य 60

Minimum Members 60

अपवाद

Exception

=मिजोरम 40 सदस्य

 = Mizoram 40 members

=सिक्किम 32 सदस्य

= Sikkim 32 members

=गोवा 40 सदस्य

= Goa 40 members 

राज्य विधानमंडल विधानसभा का कार्यकाल =अनुछेद 172

Tenure of Legislative Assembly = 172

प्रथम बैठक से 5 वर्ष तक

5 years from the first meeting

राज्यपाल 5 वर्ष से पूर्वी विधानसभा विधटित सकता है मुख्यमंत्री के प्रस्ताव पर

Governor can legislate Eastern Legislative Assembly from 5 years on Chief Minister’s proposal

आपातकाल के समय विधानसभा के कार्यकाल को 1 बार में 1 बार आगे बढ़ाया जा सकता है सांसद के द्वारा

During the Emergency, the tenure of the Legislative Assembly can be extended 1 time in 1 time by the MP.

मध्यावाधि चुनाव= विधानसभा के विधटित की बाद पुना चुनाव

Mid-term election = Poona election after Legislative Assembly

उपचुनाव किसी (MLA) की मृत्यु या पद खाली हो पर चुनाव

Election on the death or vacancy of someone (MLA)

राज्य विधानमंडल की योग्यताएं 173 अनुच्छेद

Qualifications 173 Article 

  • voter of the same state
  • 2 वर्ष सजा ना भारत का नागरिक हो
  • Be a citizen of India
  • 25 वर्ष की उम्र पूरी कर चुका हो
  • Has completed the age of 25 years
  • लाभ के पद पर ना हो
  • Not in a position of profit
  • उसी राज्य का मतदाता होना चाहिए
  • Must be a हुई हो
  • Not punished for 2 years
सदस्य निर्वाचन मनोनीत
राज्य विधानमंडल सदस्य निर्वाचन मनोनीत
शपथ प्रेतीज्ञान अनुछेद 188
राज्य विधानमंडल शपथ प्रेतीज्ञान अनुछेद 188

नोट -332 विधानसभा में sc सीट 84 तथा ST की सीट (2) है यूपी में

Note: There are sc seats 84 and ST seats (2) in the UP assembly in UP.

लोकसभा में SC की सीट (17)आरक्षित है

SC seat in Lok Sabha (17) is reserved

अनुच्छेद 193 अगर किसी व्यक्ति ने सदन की शपथ नहीं ली है तो वह कार्रवाई का हिस्सा नहीं हो सकता अगर करवाई का हिस्सा है तो 500 दिन गुजारना लगेगा

Article 193 If a person has not taken oath of the House, then he cannot be part of the action, if it is part of the proceedings, then 500 days will have to pass.

राज्य विधानमंडल स्थानों की रिक्तत्ता अनुछेद 190

Vacancy of places Article 190

दोहरी सदस्यता पर

On dual membership

त्यागपत्र देने से

Resigning

लगातार 60 दिन अनुपस्थित देने की बिना सूचना के

60 consecutive days without giving notice

राज्य विधानमंडल विधानसभा के पदाधिकारी अनुछेद 178

Legislative Assembly Article 178

  • विधानसभा अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष
  • Assembly Speaker and Deputy Speaker
  • सदन के सदस्यों से ही चुने जाते हैं
  • Members of the house are elected only
  • अध्यक्ष सानता पार्टी से
  • President sanata from party
  • उपाध्यक्ष विपक्ष पार्टी से
  • Vice president from opposition party
  • अपने पद की शपथ नहीं लेते हैं यह सदस्य की ले चुके होने है
  • Do not take oath of office
  • अनुछेद 179 अध्यक्ष उपाध्यक्ष को तथा उपाध्यक्षअध्यक्ष को त्यागपत्र देते हैं
  • Article 179 resigns to the Deputy Speaker and to the Deputy Chairman
  • अनुछेद 181 अध्यक्ष या उपाध्यक्ष को पद से हटाने का प्रस्ताव जब किसी विचारधीन होता है तो वह अध्यक्ष के तौर पर कार्य नहीं करेगा
  • Article 181 When the proposal to remove the President or the Vice-Chairman is under consideration, he shall not act as the Speaker.
  • अध्यक्ष को हटाने के लिए प्रस्ताव साधारण बहुमत से पास होना चाहिए
  • The motion to remove the Speaker should be passed by a simple majority.
  • अध्यक्ष को 14 दिन पूर्व सूचना देनी होगी
  • The chairman will have to give 14 days’ notice

राज्य विधानमंडल विधानमंडल के सत्र अनुछेद 174
Article 174 of the Legislature

सत्र

The session

सत्र आहूत राज्यपाल बुलाते हैं

Sessions called the Governor

सत्र विधटन राज्यपाल करते हैं

Sessions act Governor

 राज्य विधानमंडल विधान सभा अध्यक्ष के कार्य एवं शक्ति अनुछेद 180

Power and functions of the Speaker of the Legislative Assembly Article 180

यह पीठासीन अधिकारी होते हैं

These are presiding officers

यह विधानसभा की कार्रवाई को संचालित करते नियमों के अनुसार सदस्यों को बुलाने का समय प्रदान करते हैं

It provides time to call the members as per the rules governing the proceedings of the Legislative Assembly.

कोई भी विधेयक धन विधेयक है या नहीं निर्धारित करते हैं

Whether a bill is a money bill or not

दल बदल के आधार पर कोई बाहर होते तो निर्णय लेते हैं

If someone is out on the basis of change, they decide

सदनों की कार्यवाही को स्थापित रोका सकते हैं

Can prevent the installation of houses

साधरण विधेयक विधान परिषद प्रथम बार तीन माह तथा दूसरी बार एक महान के लिए रख सकती हैं

The Legislative Council may keep the Saharan Bill for the first time for three months and the second time for a noble.

धन विधेयक का विधान परिषद में पहले नहीं रखा जाता हैं

Money Bill is not put before the Legislative Council.

धन विधेयक को विधान परिषद 14 दिन तक रख सकती ह

इन्हें भी पढ़ें

प्रधानमंत्री और उनके कार्यकाल

उच्चतम न्यायालय

भारत का उपराष्ट्रपति

हमारे प्रधानमंत्री

प्रस्तावना

error: Content is protected !!
Ads Blocker Image Powered by Code Help Pro

Ads Blocker Detected!!!

We have detected that you are using extensions to block ads. Please support us by disabling these ads blocker.