राज्य – राज्य अनुछेद -152 -237- विधाई शक्तियां- वित्तीय अधिकार – अनुच्छेद 213 अध्यादेश की शक्ति

राज्य कार्यपलिक
राज्यपाल मुख़्यमंत्री व् मंत्रिपरिष्द महाधिकता

राज्य अनुछेद -152 -237  State Article-152 -237

राज्यपाल Governor

अनुच्छेद 153 भारत के प्रत्येक राज्य में एक राज्यपाल होगा

Article 153 Every State of India shall have a Governor

एक ही राज्यपाल को दो या दो से अधिक राज्यों का राज्यपाल नियुक्त किया जा सकता है

The same governor can be appointed as the governor of two or more states.

सातवां संशोधन 1956 द्वारा जोड़ा

The seventh amendment added by 1956

पंजाब की राज्यपाल चंडीगढ़ का भी कार्य संभालता है

The Governor of Punjab also handles the work of Chandigarh.

एमपी की राज्यपाल लालजी टंडन की मूर्ति पर यूपी की राज्यपाल को कार्यभार सौंपा गया

The Governor of UP has been given the charge over the statue of MP Governor Lalji Tandon

राज्यपाल राज्य का संवैधानिक प्रमुख होता है

The Governor is the constitutional head of state

राज्यपाल का पद स्वतंत्र संविधानिक पद है वह किसी के प्रति जवाब नहीं है

The post of Governor is an independent constitutional post, it is not a response to anyone.

राज्यपाल केंद्र और राज्य के मध्य की कड़ी होता है

The governor is the link between the center and the state

राज्यपाल केंद्र का प्रतिनिधि होता है किंतु केंद्र के अधीनस्थ नहीं होता है

The governor is the representative of the center but not the subordinate of the center.

अनुच्छेद 154 राज्य की कार्यपालिका शक्ति राज्यपाल में निहित है

Article 154 The executive power of the state is vested in the governor

अनुच्छेद 155 राज्यपाल की नियुक्ति राष्ट्रपति द्वारा की जाती है

Article 155 The Governor is appointed by the President

अनुछेद 156 (i )राज्यपाल राष्ट्रपति के प्रसादपर्यंत कार्य करता है

Article 156 (i) The Governor functions during the President’s Offering

अनुछेद 156(ii )वह पद त्याग कर सकता है

Article 156 (ii) He may resign

राज्यपाल अपना त्यागपत्र राष्ट्रपति को देता है

The Governor submits his resignation to the President

अनुछेद 156 = कार्यकाल 5 वर्ष

Article 156 = Tenure of 5 years

राज्यपाल की योग्यताएं अनुछेद 157

Qualifications of Governor Article 157

वह भारत का नागरिक हो

He is a citizen of India

वह 35 वर्ष की आयु उम्र पूरी कर चुका हूं

He is 35 years of age

अनुछेद 158(i ) विधानमंडल का सदस्य नहीं होना चाहिए

Article 158 (i) should not be a member of the Legislature

संसद सदस्य नहीं होना चाहिए अगर है तो राज्यपाल बनते ही उसकी सदस्यता खत्म कर दी जाएगी

Should not be a Member of Parliament, if it is, then its membership will be terminated as soon as it becomes Governor.

158 (ii ) किसी प्रकार की लाभ के पद पर नहीं होना चाहिए

158 (ii) should not hold any office of profit

राज्यपाल के वेतन भत्ते संसद निर्धारित करती है र्तमान 3.5 लाख

Parliament determines the salary allowances of the current 3.5 lakhs

अनुछेद 158 (iii ) नोट राज्यपाल का वेतन केंद्र सरकार देती है एवं आवास आदि राज्य सरकार देती है

Article 158 (iii) The Central Government gives the salary of the Governor and the State Government gives the accommodation etc.

अनुछेद158 (3a) अगर कोई राजपाल एक से अधिक राज्य का हो तो उसकी भंते का निधरिण राष्ट्रपति द्वारा किया जाता है क़ि कोन सा ऱाज्य अनुपात में भनता देगा

Article 158 (3a) If a Rajpal belongs to more than one state, his predecessor is determined by the President, who will pay in proportion to the state

अनुच्छेद 158(4 )राज्यपाल के वेतन भन्ते कम नहीं कर सकते

Article 158 (4) cannot reduce the salary of the Governor

अपवाद वित्तीय आपात की स्थिति में कम कर सकते हैं

Exceptions can be reduced in the event of financial emergency

शपथ Oath अनुछेद 159  Article 159

राज्यपाल को हाई कोर्ट का मुख्य न्यायाधीश शपथ दिलाता है

Governor is sworn in by the Chief Justice of the High Court

अनुछेद 160 राजपाल की आक्सिम्क शक्तियां

Article 160 The royal powers of Rajpal

क्षमादान की शक्ति 161

Power of pardon

राज्य सूची के विषयों पर क्षमा कर सकता है

State may waive list items

सजा को कम करना सकता है

May reduce the punishment

सजा की प्रकृति को बदल सकता है

Can change the nature of punishment

मृत्युदंड को आजीवन कारावास में बदल सकता है

Death penalty can be commuted to life imprisonment

नोट -सैनिक न्यायालय की सजा को माफ नहीं कर सकता है

Note – Civil court cannot waive sentence

राज्यपाल की शक्तियां

Powers of governor

महाधिवक्ता कि नियुक्त

Appointed as advocate general

राज्य वित्त आयोग का गठन

Constitution of State Finance Commission

राज्य चुनाव आयोग का गठन 

Constitution of State Election Commission

जिला न्यायाधीश की नियुक्ति राज्य विधान परिषद सदस्यों संख्या का 1/6 भाग सदस्य सदस्यों को नियुक्त करता है जिनका संबंध विज्ञान साहित्य कला समाज -सेवा सहकारी आंदोलन आदि से रहता है 171 (5)

Appointment of District Judge 1/6 of the State Legislative Council members number appoints members who are related to Science Literature Arts Society-Service Cooperative Movement etc. 171 (5)

विधाई शक्तियां

Legislative powers

अनुच्छेद 168 भारत के प्रत्येक राज्य में विधान मंडल होगा

Article 168 Every state of India will have a legislature

अनुच्छेद 164 राज्यपाल विधानमंडल का अभिन्न अंग है

Article 164 is an integral part of the Governor’s Legislature

विधेयक पर अनुमति दे सकता है विधेयक राष्ट्रपति के लिए आरक्षित रख सकता= 200

May allow on the Bill, the Bill can be reserved for the President = 200

राष्ट्रपति विधेयक पर अनुमति दे सकता नहीं दे सकता =201

President can not allow on Bill = 201

सत्र को बुलाता है सत्र वसान का चत्रा वसान करता है =174

The session calls for the session.

विधानमंडल के सत्र को संबोधित करता है और संदेश भेज सकता है =175

Addresses session of Legislature and can send message = 175

राज्यपाल का विशेष अभिभाषण 176

Governor’s special address 176

वित्तीय अधिकार

Financial powers

राज्यपाल विधेयक वित्तीय वर्ष में वित्त मंत्री को विधानमंडल के (विधानसभा )के सम्मुख वार्षिक वित्तीय विवरण प्रस्तुत करने के लिए कहता है

The Governor asks the Finance Minister to submit the annual financial statement in front of the Legislature (Legislative Assembly) in the financial year.

विधानसभा मैं धन विधेयक राजपाल की पूर्व अनुमति से ही पेश किया जाता है 

In the Legislative Assembly, the Money Bill is introduced only with the prior permission of the Rajpal.

राज्यपाल की संस्तुति के बिना अनुदान की किसी मांग को विधानमंडल के सम्मुख नहीं जा सकता है

No demand for grant can be taken before the Legislature without the recommendation of the Governor.

अनुच्छेद 213 अध्यादेश की शक्ति

जब विधानमंडल का सत्र नहीं चल रहा हो और राज्यपाल को ऐसा लगे कि तत्काल कर वही की आवश्यकता है तो यह अध्यादेश जारी कर सकता है जिसे वही स्थान प्राप्त है जो विधान मंडल द्वारा भारत किसी अधिनियम का है ऐसे अध्यादेश सत्र चालू होने के बाद 6 सप्ताह के भीतर जरा मंडल द्वारा इस रात होना आवश्यक है यदि ऐसा नहीं होता तो उस आदेश की वैधता समाप्त हो जाती है

Article 213 Power of Ordinance When the Legislature is not in session and the Governor feels that immediate tax is required, it can issue an ordinance which has the same place as any act of India by the Legislature. It is necessary to be on this night by Zara Mandal within 6 weeks after it happens, if it does not, then the validity of that order ceases.

राज्य के समस्त कार्यपालिका कार राजपाल के नाम से ही किए जाते हैं

All executive cars of the state are carried in the name of Rajpal.

164 =राज्यपाल मुख्यमंत्री को तथा मुख्यमंत्री की सलाह पर उसकी मंत्री परिषद के सदस्यों को नियुक्त करता है तथा उन्हें पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाता है

164 = The Governor appoints the Chief Minister and the members of his Council of Ministers on the advice of the Chief Minister and gives them oath of office and secrecy.

अनुच्छेद 317 राज्य लोक सेवा आयोग के सदस्यों को नहीं हटा सकता है राष्ट्रपति का निर्देशित किए जाने पर (S.P) के प्रतिवेदन पर राष्ट्रपति द्वारा हटाए जा सकते

Article 317 cannot remove members of the State Public Service Commission, may be removed by the President on the President’s directive (S.P) report

राज्यपाल का अधिकार है कि वह राज्य के प्रशासन के संबंध में मुख्यमंत्री से सूचना प्राप्त करें

The Governor has the right to get information from the Chief Minister regarding the administration of the state

इन्हे भी पढ़े 

आपात-उपबंध-upsc-gk

स्थानीय स्वाशन 

मौलिक अधिकार

वित्त आयोग 

प्रधान मंत्री और उनका कार्यकाल 

संघ और राज्यक्षेत्र

मुख्यमंत्री

राज्य विधान मंडल 

चुनाव-आयोग-election-commission

1 thought on “राज्य – राज्य अनुछेद -152 -237- विधाई शक्तियां- वित्तीय अधिकार – अनुच्छेद 213 अध्यादेश की शक्ति”

Leave a Comment

error: Content is protected !!