ओलम्पिक खेल – Olympic Games

ओलंपिक खेल The olympics games                                                                               

* प्राचीन ओलंपिक खेल यूनान के ओलम्पिया शहर में 776 ईसा पूर्व में प्रारंभ हुआ था।

The Olympic Games began in the Olympics in Greece in 776 BC.

हली बार यह खेल ग्राक दवता ज्युस के सम्मान में खेला गयाये खेल तव जों में एक बार 394 ई. तक खेले गए फिर रोम के राजा थियोडोसियस आदेश के कारण इन खेलों को बंद कर दिया। 

For the first time this game was played in honor of Grac Dvata Juice. These games were played once in the year till 394 AD, then the games were stopped due to Theodosius order of King of Rome.

आधुनिक ओलंपिक खेल प्रतियोगिता का पारंभ 1896 ई. का फ्रास के बैरोन पियरेडी कोबार्डिन के प्रयासों से यूनान के एथेंस शहर में हुआ।

Baron Pierre of Fras, 1896 AD, the result of the modern Olympic sports competition
De Cobardine’s efforts took place in the city of Athens, Greece.

इसका आयोजन भी प्रत्येक चार वर्ष के अंतराल पर किया जाता है।

It is also organized at an interval of every four years.

अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक समिति की स्थापना1894 ई. में सखोन नामक स्थान पर हुई थी। • इसका मुख्यालय लोसाने (स्वीट्जरलैंड) में है।

The International Olympic Committee is the organization that conducts the Olympic Games 

इस समिति की एक कार्यकारिणी होती है, जिसमें एक अध्यक्ष, तीन उपाध्यक्ष तथा सात अत्य सदस्य होते हैं।

This committee has an executive committee, which consists of a chairman, three vice presidents and seven very members.

यह संस्था ओलपिक खेलों का स्थान, नियम, संचालन, आदि का निर्धारण करता है।

This institution determines the location, rules, operation, etc. of Olympic Games.

भारतीय ओलंपिक परिषद् की स्थापना 1924 ई. में की गई थी और सर जे. जे. टाटा इसके प्रथम ‘अध्यक्ष’ है।

The Olympic Council of India was established in 1924 and Sir J.J. J. Tata is its first ‘chairman’.

ओलम्पिक खेल

*ओलंपिक ध्वज (Olympic Flag) : 1913 ई. में बैरोन पियरे डि कोबार्टिन के सुझाव पर ओलंपिक ध्वज का सृजन हुआ।

* Olympic Flag: Olympic flag was created in 1913 AD on the suggestion of Baron Pierre de Cobartin.

इसका विधिवत उद्घाटन जून 1914 में पेरिस में किया गया था और इस ध्वज को पहली बार पेश किया गया था।

It was duly inaugurated in Paris in June 1914 and this flag was first introduced.

ओलम्पिक खेल

*ध्वज की पृष्ठभूमि सफेद है  Flag background is white

सिल्क के बने ध्वज के मध्य में ओलंपिक प्रतीक के रूप में पाँच रंगीन चक्र एक दूसरे से मिले हुए दर्शाए गए हैं, जो विश्व के पाँच महाद्वीपों के प्रतिनिधित्व करने के साथ ही निष्पक्ष एवं मुक्त स्पर्धा का प्रतीक है।

In the middle of the flag made of silk, five colored circles are shown as one of the five emblems of the world as an Olympic symbol.Along with representing the continents, it is a symbol of fair and free competition.

   * नीला चक्र यूरोप, पीला चक्र एशिया,,काला चक्र अफ्रीका, हरा चक्र ऑस्ट्रेलिया एवं लाल चक्र उत्तरी एवं दक्षिणी अमेरिका।

   Blue cycle Europe, Yellow cycle Asia,Black cycle Africa, Green cycle Australia and Red cycle North and South America.

ओलंपिक का उद्देश्य (Olympic Motto) : सन् 1897 में फादर डिडोन द्वारा सिटियस आल्टियस, फोर्टियस (Citius Altius, Fortius) लैटिन में ओलंपिक के उद्देश्य हैं जिनका अर्थ है तेज, ऊँचा और बलवान।

Olympic Motto: Sitius Altius, Fortius (Citius Altius, Fortius) by Father Didon in 1897 are the Olympic objectives in Latin which means sharp, high and strong.

इसको ओर्लोपक के उद्देश्य के रूप में पहली बार 1920 में एंटवर्प (बेल्जियम) ओलंपिक खेलों में प्रस्तुत किया।

It was first presented at the Antwerp (Belgium) Olympic Games in 1920 as Orlopek’s aim.

*ओलंपिक मशाल (Olympic Flame) : ओलंपिक मशाल जलाने की प्रथा की शुरुआत 1928 ई. के एम्सटर्डम ओलपिक से हुई।

Olympic Flame: The practice of burning the Olympic torch began with the Amsterdam Olympics in 1928.

सन् 1936 में बर्लिन ओलंपिक खेलों में मशाल के वर्तमान स्वरूप को अपनाया गया।

The current form of the torch was adopted at the Berlin Olympic Games in 1936.

इसी समय से ओलंपिक मशाल का आयोजन स्थल तक लाने का प्रचलन प्रारंभ हुआ।

From this time the practice of bringing the Olympic torch to the venue started.

इस मशाल को खेल शुरू होने से कुछ दिन पूर्व यूनान के ओलंपिया में हेरा मंदिर के सामने सूर्य की किरणों से प्रज्ज्वलित किया

This torch was lit by the rays of the sun in front of Hera Temple in Olympia, Greece, a few days before the start of the game.

जाता है और वहाँ से आयोजन स्थल विभिन्न खिलाड़ियों द्वारा लाई जाती है।

Go and from there the venue is brought by different players.

इसी मशाल से खेल समारोह विशेष की मशाल प्रज्ज्वलित की जाती है।

With this torch, the torch of a particular sporting event is lit.

ओलम्पिक खेल

*ओलंपिक पदक (Olympic Medals) : ओलंपिक खेलों में विजेताओं को तीन प्रकार के पदक दिए जाते हैं-

Olympic Medals: Three types of medals are awarded to the winners in the Olympic Games-

स्वर्ण, रजत एवं कांस्य। स्वर्ण पदक 60 मिमी वृत्त में एवं 3 मिमी मोटा होता है।

Gold, Silver and Bronze. The gold medal is 60 mm in circle and 3 mm thick.

यह 92.5% रजत परतयुक्त 6 ग्राम सोने का होता है। रजत पदक 60 मिमी वृत्त में एवं 3 मिमी मोटा होता है। यह 92.5% रजत का बना होता है।

It is 6 grams of gold with 92.5% silver layer. The silver medal is 60 mm in circle and 3 mm thick. It is made of 92.5% silver.

स्वर्ण ,रजत कांस्य पूरी तरह कांस्य से बना होता है। स्वर्ण, रजत, कांस्य पदक, क्रमशः प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान पर आने वाले खिलाड़ियों को मिलता है।

Gold, Silver Bronze is made entirely of bronze. Gold, silver, bronze medals are awarded to the players who come in first, second and third positions respectively.

ओलम्पिक खेल

*ओलंपिक शुभंकर (Olympic Mascul) : इन्सान या जानवर की आकृति वाला शुभंकर मेजबान देश की सांस्कृतिक धरोहर का दर्शाता है।

Olympic Mascul: The mascot with human or animal motif represents the cultural heritage of the host country. 

यह सर्वप्रथम 1968 से शुरू हुआ।

It first started from 1968.

           इन्हे भी पढ़े राष्ट्रमंडल खेल

👉🙏इन्हे भी पढ़े -कबड्डी-सम्बंधित-प्रश्न

👉🙏इन्हे भी पढ़े फुटबॉल gk 

👉🙏इन्हे भी पढ़े क्रिकेट-जी-के

ओलंपिक खेल

ओलंपिक खेल

error: Content is protected !!